रविवार, 4 जनवरी 2009

खुदा


"क्यो अक्सर मोहब्बत
जुदा होती है ?
शायद इसीलिए
वो खुदा होती है "

3 टिप्‍पणियां:

Abhay ने कहा…

Ab kya imtahan hoge hamare mohabbat ki, ki umr kat gayee mohabbat jawa hote-hote.
Blog Jagat me hardik swagat.
pls visit my blog www.abhayaism.blogspot.com

Umashankar Mishra ने कहा…

Mohabbat aisi dhadkan hai jo samjhayee nahi jati, zubaan per dil ki bechainee kabhi laayee nahi jaati... Swagat hai...!

सुशील कुमार छौक्कर ने कहा…

बहुत गहरी बात कह दी आपने। कही कुछ कहने को बचता कहाँ पढने के बाद। वैसे एक बात तो कहूँगा ही कि बहुत सुन्दर है :-)